2025 तक भारत में डायरेक्ट सेलिंग का बिज़नस 15-20 billion का होगा

माना जा रहा है कि 2025 तक भारत में डायरेक्ट सेलिंग का बिज़नस 15-20 बिलियन डॉलर का होने वाला है क्योंकि कुछ छोटे उधमी, मध्यम वर्गीय छोटे बिज़नस तेज़ी से डायरेक्ट सेल्लिंग को अपना कर अपना बिज़नस को बढाने में लगे है | एक रिपोर्ट में FICCI-KPMG INDIA के द्वारा कहा गया कि भारत में डायरेक्ट सेलिंग का बिज़नस 75 बिलियन तक गिरा है लेकिंग पिछले 4 सालो में 16 प्रतिशत की दर से जो डायरेक्ट सेल्लिंग में इजाफा हुआ है, इससे भारत में बहुत सारी कम्पनीज को आकर्षित किया है और  डायरेक्ट से में आने के लिए सोचने पर मजबूर कर दिया है |

कहा जा रहा है कि भारत में डायरेक्ट सेलिंग का बिज़नस लगभग 20 बिलियन तक बढेगा क्योंकि मिडिल क्लास फैमिलीज़ को कि डायरेक्ट सेलिंग के बिज़नस से जुडी हुई है, कम्पनीज उनको मोटा मुनाफा देने वाली है | और लोगो को डायरेक्ट सेलिंग में आने के लिए भी प्रोत्साहित किया जा रहा है | रिपोर्ट में कहा गया कि भारत में डायरेक्ट सेलिंग के प्रति ऐसा माहोल तेयार किया जाए जिससे की लोगो जुड़ने में आसानी हो और किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े |

एक रिपोर्ट के अनुसार भारत की राजधानी दिल्ली में तेज़ी से लोग डायरेक्ट सेलिंग की तरफ आगे बाद रहे है और पिछले साल 2013-14 में 2 से 3 लाख लोगो द्वारा डायरेक्ट बिज़नस को अपनाया गया है | देखा जा रहा है कि रहने के और जीने के खर्चे बहुत बड़ते जा रहे है और एक साधारण नौकरी में इतना पैसा नहीं है तो इसलिए भी लोग इसको एक्स्ट्रा इनकम के सोर्स के तौर पर देख रहे है और अपना रहे है | डायरेक्ट सेलिंग बिज़नस 2025 तक दिल्ली एक अन्दर 4 से 5 लाख लोगो खुद के बिज़नस का अवसर प्रदान करेगा | इन सब बातो को देखते हुए कहा जा रहा है कि बाज़ार की ग्रोथ बहुत तेजी से बढेगी और सरकार का साथ भी इसमें होगा और साथ ही साथ गवर्नमेंट के indirect taxes में भी 2025 तक 1500 से 2000 मिलियन तक का इजाफा होने वाला है | संस्था के द्वरा ये भी कहा गया की भारत में अभी तक डायरेक्ट सेलिंग के प्रति कोई सिस्टेमेटिक तरीका या फिर पालिसी को नहीं अपनाया गया, ये भी एक कारण है की लोग इसकी तरफ कम आकर्षित होते है और साथ ही साथ ये बाज़ार पर भी प्रभाव डालती है | 

FICCI के द्वारा कहा गया कि भारत में डायरेक्ट सेलिंग के लिए अभी स्य्स्तेमती वातावरण तेयार करना जरुरी है | राज्य स्तर और केंद्र स्तर पर अलग अलग नियम होने चाहिए जिससे जी कंपनियां सही तरीके से काम कर सके | और कुछ भी होने पर सारे मामले सरकार के अधीन जाने चाहिए |
Share on Google Plus
    Blogger Comment
    Facebook Comment

2 comments:

  1. *JOB*
    English में सुनने में कितना अच्छा लगता है ना
    *लेकिन*
    हिंदी में बोलते है *नोकरी* जिसका मतलब होता है �� *नोकर*

    दोस्तों हम 12th तक पड़ते है जिंदगी के 12 साल दिए पड़ने में
    उसके बाद 3 साल का Graduetion
    उसके बाद 2 साल की 
    *मास्टर डिग्री* 17 साल पढ़ाई की 
    उसके बाद किसी *कंपनी*
    इंटरव्यू के लिए जाते है।
    पढ़ाई में लाखो रूपये खर्च करने के बाद
    सामने बैठा हुआ शक्स यह निर्णय लेता है कि 
    आपको महीने में कितनी सेलेरी मिलेगी।
    1 बात सोचो की पढ़ाई की आपने पैसा लगाया आपने 
    तो वो सामने बैठने वाला शख्स कोन होता है आपके दाम लगाने वाला।
    की आपको कितनी सेलेरी देना चाहिए 

    इसमें आपकी कोई गलती नहीं है दोस्तों 
    दरअसल आप जहाँ रहते है
    आपके *माता-पिता* आपके पडोसी रिश्तेदार लोगो ने आपके दिमाग में एक ही बात डाल रखी है 
    की बेटा तुमको अच्छे से पढ़ाई करना है और एक अच्छी *नोकरी* करना है
    ये *नोकरी* करने का *कीड़ा* सब लोगो ने आपके दिमाग में भर रखा है।
    *लेकिन* 
    एक बार सोचो की *नोकरी* करने से क्या होता है 
    आप अपने दिन के *24 घंटो* में से *10 घंटे* आपके बॉस को देते हो और उनसे *10000* रूपये लेते हो 
    कोई कोई दिन के *14 घंटे* देकर *15000* रूपये लेता है 
    इसका मतलब साफ़ है कि आप अपना *समय* *बेंच* रहे हो 
    आप आपके बॉस को *1 लांख* का प्रॉफिट देते हो तब जाकर आपको *10 हजार* रूपये मिलते है 
    सीधा गणित है आपको आपकी *मेहनत* का *10%* मिलता है 
    आपके जैसे हजारो लोग 
    *1 कंपनी* में काम करते है 

    आपका बॉस आपका 
    *Time*
    *Talent*
    *Quality*
    *Effort*
    *Luck*
    सब इस्तेमाल करता है उसके बदले में आपको कुछ हजार रूपये देता हैं
    लेकिन दोस्तों सोचिये 
    जब आपके 
    *टाइम*
    *टेलेंट*
    *लक*
    *क्वालिटी* 
    *एफर्ट*
    इस्तेमाल करके आपका बॉस *करोड़पति* बन सकता है 
    तो 
    आप खुद अपना 
    *टाइम*
    *टेलेंट*
    *लक*
    *क्वालिटी*
    *एफर्ट*
    खुद के लिए इस्तेमाल करेंगे तो तो क्या आप करोड़पति नही बन सकते हो

    नोकरीं करने वाला हमेशा 
    अपने आप से *समझौता* करता है 
    न *अच्छी बाइक* होती है।
    न *कार* होती है।
    न *अच्छा घर* है।
    न *घूमना फिरना* होता है।
    न ही कोई *लाइफस्टाइल* होती है।

    हम *गरीब* पैदा हुए इसमें हमारी गलती नही 
    लेकिन गरीब मर जाना *पाप* होगा

    दोस्तों हमारे देश के प्रधानमंत्री 
    *मोदी जी* भी बोल रहे है 
    *स्वरोजगार* करो 

    दोस्तों यदि हम *direct selling*
    में work करे तो हम भी अपने सारे *सपने* पूरे कर सकते है
    *Direct selling* 2017 -2020 का सबसे तेज़ी से आगे बढ़ने वाला *Bussiness* है।

    आइये आज ही हम मिलके शुरूवात करते हैं.
    डायरेक्ट-सैलिंग बिज़नेस इसे अपने काम के साथ-साथ भी कर सकते है !

    सम्पर्क करे..! 

    Name - Sandeep Bisht
    contact no- 7017473092

    ReplyDelete
  2. Ohho mini plan nice and wonderful description on short line.. nive

    ReplyDelete

Featured Post

MyPayingAds से पैसे कमाने का अच्छा अवसर

जी हा दोस्तों आज में आपके लिए लाया हूँ फिर से एक बार ऑनलाइन पैसे कमाने का एक और जरिया । जैसा कि आपको पता ही होगा कि बाज़ार से कुछ अच्छी चीज़...

Get Expert In Network Marketing...